ads

छात्राओं को स्कूल आने पर सरकार रोज देगी सौ रूपए, उच्च शिक्षा के लिए स्कूटर और अन्य वित्तीय सहायता

Education News: बालिका शिक्षा बढ़ावा देने के लिए असम सरकार ने अनोखी पहल की है। सरकार छात्राओं को स्कूल आने पर प्रतिदिन 100 रूपए देगी, ताकि स्कूल आने में उनकी रुचि बनी रहे। इसके आलावा स्नातक छात्राओं को 1500 रूपए और स्नातकोत्तर छात्रों को किताबें खरीदने के लिए 2000 रूपए दिए जाएंगे। यह राशि जनवरी के अंत तक उनके बैंक खाते में जमा होगी।

असम के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने बताया कि राज्य सरकार छात्राओं को स्कूटर और वित्तीय प्रोत्साहन देगी, ताकि सुनिश्चित हो सके कि वे नियमित रूप से कक्षाओं में शामिल हो सके। सरकार ने यह फैसला पिछले साल ही कर लिया था, लेकिन कोरोना के चलते इसमें देरी हुई।

सरमा ने रविवार को शिवसागर में कहा कि वर्तमान में राज्य सरकार राज्य बोर्ड से कक्षा 12वीं प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण करने वाली छात्राओं को प्रज्ञान भारती योजना के तहत 22,000 दोपहिया वाहन वितरित कर रही है। राज्य सरकार इस उद्देश्य के लिए 144.30 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

मंत्री ने कहा कि इस महीने के अंत तक 100 रुपये प्रतिदिन की योजना शुरू की जाएगी। हालांकि उन्होंने इसके क्रियान्वन पर सरकार पर पड़ने वाले वित्तीय प्रभावों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उन सभी छात्राओं को स्कूटर मुहैया कराएगी, जो राज्य बोर्ड से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई हैं। भले ही यह संख्या एक लाख के पार हो जाए. उन्होंने कहा कि 2018 और 2019 में प्रथम श्रेणी में कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली सभी छात्राओं को भी स्कूटर प्रदान किए जाएंगे।


मंत्री स्कूटर वितरित करने के लिए दौरे पर हैं और उन्होंने सोमवार को एक साइकिल रैली में हिस्सा लिया। इस बीच, कोविड-19 के कारण लगभग 10 महीने तक बंद रहने के बाद एक जनवरी को फिर से खुले स्कूलों में पहले दो दिनों की तुलना में सोमवार को स्कूलों में उपस्थिति काफी अधिक रही।



Source छात्राओं को स्कूल आने पर सरकार रोज देगी सौ रूपए, उच्च शिक्षा के लिए स्कूटर और अन्य वित्तीय सहायता
https://ift.tt/2JInY3E

Post a Comment

0 Comments